The Complete Computer Basics Guide for Beginners

कंप्यूटर की मूल बातें-एक शुरुआती गाइड, वास्तविक छवियों के साथ सचित्र Computer Basics-A Beginner’s Guide, Illustrated with real Images

जब हम कंप्यूटर के बारे में सोचते हैं, तो दिमाग में एक वर्गाकार डब्बे की छवि बनती है. एक डब्बा जो बिजली से जुड़ा हुआ होता है और कई अन्य तार तथा केबल इससे जुड़े हुए होते हैं. इससे एक मॉनिटर, तथा कई प्रकार के प्रिंटर आदि भी जुड़े हो सकते हैं। हममें से अधिकांश लोग यह नहीं सोचते हैं कि एक इंसान की तरह काम करने वाले इस बॉक्स के अंदर ऐसा क्या है जो बहुत तेज और सटीक, त्रुटि रहित परिणाम देता है। वास्तव में हमें आधारभूत विचार या सिद्धांत को जानने का प्रयास करना चाहिए तथा इस जादुई डब्बे की कार्य प्रणाली और सामग्री के बारे में हमारे दिमाग में एक व्यापक रूपरेखा होनी चाहिए। यदि आपके दिमाग में इस विषय में कोई विचार नहीं है तो, कोई बात नहीं, मैं आपको इस विस्तृत लेख के विभिन्न पैराग्राफ में कंप्यूटर की सामग्री और इसके काम करने की प्रक्रिया के बारे में गहराई से समझाने का प्रयास करूंगा.

Computer Basics-A Beginner’s Guide, Illustrated with real Images

कंप्यूटर के मुख्य घटक Main components of a computer

 (1)  कंप्यूटर का मदर बोर्ड The Mother board of the computer

मदर बोर्ड कंप्यूटर का एक सर्किट बोर्ड होता है। मदर बोर्ड कंप्यूटर के विभिन्न हिस्सों जैसे प्रोसेसर, पोर्ट ड्राइव, मॉनिटर, की बोर्ड, प्रिंटर, स्कैनर, रैम तथा अन्य सभी हिस्सों को आपस में जोड़ता है. इनका आपस में संतुलन बनाए रखता है और यह सभी हिस्से मदर बोर्ड के जरिए एक दूसरे से संचार करते(Communicate) है। यदि कंप्यूटर में मदर बोर्ड नहीं है तो कंप्यूटर का कोई भी घटक एक दूसरे के साथ संचार नहीं कर सकता है। मदर बोर्ड कंप्यूटर सिस्टम का सबसे महत्वपूर्ण और सबसे बड़ा हिस्सा होता है।

 

YOU MAY LIKE TO READ ON -  What is clipboard History Windows 10  How to use


(2)  प्रोसेसर अथवा सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट The Processor or the Central Processing Unit

गणितीय प्रक्रिया सहित सभी प्रकार का प्रसंस्करण(Processin) प्रोसेसर द्वारा किया जाता है। प्रोसेसर को कंप्यूटर का दिमाग भी कहा जाता है। प्रोसेसर फीवर हिस्सा है जो सभी प्रकार के निर्देश या आदेश  सफलता पूर्वक नियंत्रित अथवा क्रियान्वित करता है।


http://www.wikigreen.in/2014/05/computer-basics-beginners-guide.html

The Processor or the Central Processing Unit

(3)  The RAM (रैंडम एक्सेस मेमोरी)The RAM(Random Access Memory)

RAM (रैंडम एक्सेस मेमोरी) एक अस्थिर  मेमोरी होती है जो वर्तमान में सक्रिय एप्लिकेशन(Active Applications) या कंप्यूटर पर चल रही अन्य चीजों को स्टोर करती है। ऐसी चीजें मेमोरी में तब तक रहती हैं जब तक ये सक्रिय रहती हैं और जब हम इन्हें बंद करते हैं तो स्वचालित रूप से रेंडम एक्सेस मेमोरी से हटा दी जाती हैं। कुछ लोग हार्ड डिस्क और रेंडम एक्सेस मेमोरी के बारे में भ्रमित हो जाते हैं लेकिन हार्ड डिस्क एक स्टोरेज ड्राइव है और रैम (रैंडम एक्सेस मेमोरी) एक अस्थिर(Volatile) मेमोरी होती है।

 

YOU MAY LIKE TO READ ON -  Cyber attacks onWhatsApp Pay, how to Avoid frauds

 

(4)  कंप्यूटर डिस्क स्टोरेज, हार्ड डिस्क या हार्ड ड्राइव The computer Disk Storage, the Hard Disk or Hard Drive

हार्ड डिस्क को कंप्यूटर की स्थायी भंडारण यूनिट(Permanent Storage Unit) भी कहा जाता है। पहले हार्ड ड्राइव की स्टोरेज क्षमता बहुत कम थी, यह मेगाबाइट्स में थी लेकिन वर्तमान में यह टेराबाइट्स में यानी बहुत अधिक हो गई है। यह आपकी जानकारी और डेटा को हमेशा के लिए संग्रहीत करता है जो आपके कंप्यूटर के चालू या बंद होने की प्रक्रिया से अप्रभावी रहते है अर्थात कंप्यूटर बंद होने के बाद भी हार्ड डिस्क पर सेव किए गए आपके डाटा नष्ट नहीं होते और ये तब तक सुरक्षित हैं जब तक आप जानबूझकर इन्हें हटा नहीं देते। उन्नत तकनीक के साथ हटाए गए डेटा को पुनर्प्राप्त भी किया जा सकता है।

(5)  ROM (रीड ओनली मेमोरी) The ROM(Read Only Memory)

जैसा कि इसके नाम से ही समझा जा सकता है, इसे केवल पढ़ा ही जा सकता है। यह कंप्यूटर में एक चिप होती है और इस पर मौजूद डेटा को केवल पढ़ा जा सकता है जैसे कि सीडी रोम(Compact Disk Read Only Memory)। आधुनिक कंप्यूटरों में ROM (रीड ओनली मेमोरी) को PROM (प्रोग्रामेबल रीड ओनली मेमोरी) से बदल दिया जाता है। हालाँकि PROM भी केवल पढ़ा जाता है, लेकिन इसमें एक आसान फर्मवेयर प्रोग्रामिंग विकल्प होता है।

 

YOU MAY LIKE TO READ ON -  How to keep your online password secure 7 killer tips

 

कंप्यूटर मेमोरी की क्षमता Computer Memory Capaciry

हालांकि आधुनिक कंप्यूटरों की भंडारण क्षमता टेराबाइट्स में होती है जो बहुत अधिक होती है लेकिन फिर भी इसकी एक सीमा होती है और यह असीमित नहीं हो सकती है। कंप्यूटर डेटा की सबसे छोटी मापने वाली इकाई 'बिट' होती है और सबसे बड़ी 'टेराबाइट', इनका क्रम इस प्रकार है 1 - बिट, 2 - बाइट, 3 - किलोबाइट, 4 - मेगाबाइट, 5 - गीगाबाइट, और 6 - टेराबाइट होती है।

 

http://www.wikigreen.in/2014/05/computer-basics-beginners-guide.html
Computer Memoru

(6)  ट्रांजिस्टर Transistors

कंप्यूटर को मशीनी भाषा उत्पन्न करने की आवश्यकता होती है और मशीनी भाषा उत्पन्न करने के लिए उसे लाखों ट्रांजिस्टर की आवश्यकता होती है। उदाहरण के लिए एनएम प्रौद्योगिकी(NM technology) पर आधारित इंटेल के कोर i5 में 114 मिमी2 के डाई आकार पर 177 मिलियन ट्रांजिस्टर होते हैं।

 
http://www.wikigreen.in/2014/05/computer-basics-beginners-guide.html

Transistors

(7)  मशीन की भाषा Language of the Machine

 

सभी मशीनें (कंप्यूटर) और अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण मशीनी भाषा या बाइनरी में संचार कर सकते हैं। असल में बाइनरी कुछ भी नहीं बल्कि 'एक' और 'शून्य' या चालू या बंद होने वाले कुछ विद्युत सिग्नल(Electrical Signals) की एक श्रृंखला होती है। कंप्यूटर पर संपूर्ण सॉफ्टवेयर लिखने के लिए एक उच्च स्तरीय कंप्यूटर भाषा का उपयोग किया जाता है। मनुष्य उस भाषा को नहीं समझ सकता और केवल कंप्यूटर ही उसे समझ सकता है। पूरा प्रोग्राम केवल "शून्य" और "एक" अंक का उपयोग कर के बनाया जाता है। इस प्रकार आप कह सकते हैं कि आपका कंप्यूटर केवल अंक "1" और "0" के अलावा कुछ नहीं समझ सकता है।


http://www.wikigreen.in/2014/05/computer-basics-beginners-guide.html
Language of the Machine

 

YOU MAY LIKE TO READ ON -  How to Schedule SEND in Gmail on Deshtop Smartphone

 

(8)  ASCII कोड The ASCII(American Standard Code for Information Interchange) Code

ASCII का अर्थ अमेरिकी मानक कोड फॉर इंफॉर्मेशन इंटरचेंज है। ASCII में 128 निर्दिष्ट वर्ण(अंक,अक्सर,संकेत आदि Figures, Letters,Symbols etc.) हैं जो मूल रूप से अंग्रेजी वर्णमाला पर आधारित हैं और 7-बिट बाइनरी पूर्णांक को एन्कोड करते हैं। प्रत्येक बाइनरी शून्य या एक को एक 'बिट' माना जाता है और आठ बिट से एक बाइट बनता है। प्रत्येक अक्षर या वर्ण या संख्या एक बाइट या 8 बिट से बनी होती है। एएससीआईआई को सहेजने या संपादित करने के लिए सामान्य तरीका है और यह तरीका है बाइनरी का एक बाइट है। उदाहरण के लिए बाइनरी में, हम “a” (लोअर केस में) ले सकते हैं जिसका दशमलव मान है 97 तथा बाइनरी में जिसका अर्थ 01100001 है ।

प्रत्येक बाइनरी 0 या 1 को एक बिट माना जाता है और प्रत्येक संख्या, अक्षर या अन्य वर्ण आठ बिट्स (यानी एक बाइट) से बने होते हैं। टेक्स्ट को स्टोर करने और संपादित करने का एक सामान्य तरीका ASCII कोड की मदद से ही किया जाता है, जो बाइनरी का एक बाइट है। उदाहरण के लिए, छोटे अक्षर "b" का ASCII कोड 01100010 है। अन्य उदाहरण देखें - 

ए = 01100001,

बी = 01100010,

सी = 01100011,

डी = 01100100,

ई = 01100101,

एफ = 01100111,

स्पेस(Space) = 00100000 और

वापसी(Return) = 00001010 और इसी तरह।


http://www.wikigreen.in/2014/05/computer-basics-beginners-guide.html
The ASCII Code

YOU MAY LIKE TO READ ON -  5 serious UPI payment mistakes how to Avoid UPI Fraud    93


(9)  इनपुट और आउटपुट डिवाइस तथा इनपुट,आउटपुट दोनों के लिए कोमन डिवाइस Input, Output devices and devices for both Input and Out Put

कंप्यूटर कई तरह के उपकरणों के साथ काम करता है। कंप्यूटर को कमांड सिग्नल भेजने के लिए स्कैनर्स, कीबोर्ड, माउस और एक जॉय स्टिक (जो आजकल बंद हो गया है) आदि उपकरणों का उपयोग किया जाता है और इनको इनपुट डिवाइस कहा जाता है अर्थात वह डिवाइस जो कंप्यूटर में किसी तरह की कमांड या सिग्नल भेजती है।

कमांड सिग्नल के परिणाम कंप्यूटर मॉनीटर पर प्रदर्शित होते हैं, दस्तावेज़ प्रिंटर पर मुद्रित होते हैं, संगीत या वीडियो स्पीकर में चलाए जाते हैं और ऐसे सभी उपकरणों को आउटपुट डिवाइस कहा जाता है यानी वे डिवाइस जिनको कंप्यूटर की तरफ से सिग्नल प्राप्त होते हैं।

कुछ उपकरणों में दोनों कार्य होते हैं। उदाहरण के लिए जब हम डेटा को रिमूवेबल ड्राइव से कंप्यूटर में ट्रांसफर करते हैं तो यह एक इनपुट डिवाइस के रूप में काम करता है लेकिन जब हम कंप्यूटर से डेटा को रिमूवेबल ड्राइव में ट्रांसफर करते हैं तो यह एक आउटपुट डिवाइस होता है।

 

http://www.wikigreen.in/2014/05/computer-basics-beginners-guide.html
Input, Output devices and devices for both Input and Out Put

 

YOU MAY LIKE TO READ ON -  How to know 5 common signs indicating phone is hacked

 

(10)  कंप्यूटर में एक्सपेंशन(विस्तार) कार्ड Expansion Cards in a computer

दक्षता में सुधार और क्षमता बढ़ाने के लिए कंप्यूटर में कई प्रकार के विस्तार कार्ड जोड़े जाते हैं। एक नेटवर्क या लैन कार्ड, वीडियो और ग्राफिक्स कार्ड, साउंड कार्ड, मॉडम और कई अन्य कार्ड सुचारू रूप से काम करने के लिए आवश्यक हैं। वर्तमान में लगभग सभी कंप्यूटरों में सभी महत्वपूर्ण कार्ड पहले से ही बूढ़े होते हैं.

कंप्यूटर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर Computer Hardware and Software

कंप्यूटर बनने के लिए हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर दोनों ही प्राथमिक आवश्यकताएं है। सॉफ्टवेयर के बिना कंप्यूटर एक खाली और बेकार बॉक्स से ज्यादा कुछ नहीं है। कंप्यूटर में हम अपनी आंखों से जो कुछ भी देख सकते हैं, वह एक हार्ड वेयर है और सॉफ्टवेयर बिल्कुल भी दिखाई नहीं देता है यानी कंप्यूटर में ऐसी चीजें जिन्हें हम देख नहीं सकते, सॉफ्टवेयर कहलाती है।

कोम्प्यूटर प्रोग्रामिंग Copmpter Programming

प्रोग्रामिंग ही वह चीज है जो कंप्यूटर को काम करने योग्य बनाती है। विभिन्न प्रकार के कार्यों को करने के लिए कंप्यूटर में बड़ी संख्या में कंप्यूटर प्रोग्राम(Computer Program) इंस्टॉल किए जाते हैं हैं। अगर किसी कंप्यूटर में कोई प्रोग्राम में हो तो वह कंप्यूटर बेकार के खाली डिब्बे के अलावा कुछ नहीं होता.

 

YOU MAY LIKE TO READ ON -  How to avoid phone tracking, indications being tracked  safety tips 

 

(11)  कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम Computer Operating System

ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर के लिए एक और बुनियादी आवश्यकता है। प्रत्येक कंप्यूटर एक निश्चित ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम करता है। उदाहरण के लिए विंडोज एक ऑपरेटिंग सिस्टम है और दुनिया में बड़े पैमाने पर इसका इस्तेमाल किया जाता है। विंडोज, यूनिक्स, मैक और लाइनक्स दुनिया में उपयोग किए जाने वाले मुख्य ऑपरेटिंग सिस्टम हैं और आईबीएम (इंटरनेशनल बिजनेस मशीन) संगत(Compatible) और एप्पल(Apple) यह दो कंप्यूटर के प्रकार हैं। विंडोज, यूनिक्स और मैक ऑपरेटिंग सिस्टम सभी आईबीएम संगत(Compatible) कंप्यूटरों पर काम करेंगे लेकिन एप्पल कंप्यूटर पर केवल मैक(MAC) ऑपरेटिंग सिस्टम ही चलेगा।

(12)  इंटरनेट और नेटवर्कInternet and Network.

 

भौतिक लाइन या वायरलेस तरीके से दो कंप्यूटरों के बीच स्थापित संचार को इंटरनेट नेटवर्क संचार कहा जाता है, LAN (लोकल एरिया नेटवर्क) और WAN (वाइड एरिया नेटवर्क) यह दोनों ही नेट वर्क संचार के प्रकार हैं ।

 

YOU MAY LIKE TO READ ON -  How to lock unlock Aadhaar 
Card and Biometrics Information


तो यह थी The Complete Computer Basics Guide for Beginners शुरुआत करने वालों के लिए संपूर्ण कंप्यूटर का विस्तृत गाइड की लंबी चौड़ी राम कहानी जो हमने आपकी सेवा में प्रस्तुत की। आशा करते हैं कि हमारा प्रयास आपको पसंद आया होगा ।कृपया हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब करें । हमारी पोस्ट को अपने मित्रों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करें । अपनी राय हमें कमेंट के जरिए दें । हमारी वेबसाइट पर विजिट करने के लिए धन्यवाद। अगर आप हमसे कुछ और पूछना चाहते हैं या हमसे संपर्क करना चाहते हैं तो हमारी पोस्ट पर कमेंट करके या हमारी वेबसाइट के होम पेज पर मौजूद कांटेक्ट फार्म का इस्तेमाल करके हमसे संपर्क कर सकते हैं । अगर आप हमसे संपर्क करेंगे तो हमें बहुत प्रसन्नता होगी । नमस्कार धन्यवाद आपका दिन शुभ हो ।

computer basic notes, basic computer knowledge pdf, assignment on computer basics, digital computer fundamentals notes, basic computer exercises for beginners, computer basics worksheet section, computer training modules for beginners

 

 

1 टिप्पणियाँ

Please Donot spam

और नया पुराने