google-site-verification: googlefcc831f3afff5489.html google-site-verification=XK9IDkjU7jjUURp5A425iStvbYoDk39UO0ryXDjSqWw google-site-verification: googlefcc831f3afff5489.html Blog on Computer, Blogging, Mobile Phones,Technology Network security tips banking Frauds, Malware,

सिग्नल एप क्या है, और इतना लोकप्रिय क्यों हैWhat Is Signal, and Why it Is so popular

 सिग्नल मैसेजिंग एप क्या है? यह इतना लोकप्रिय क्यों हो रहा है कि सब लोग इसी की चर्चा कर रहे हैं । इसके फीचर क्या क्या है यह सिक्योरिटी और प्राइवेसी के लिए कैसा है । अन्य मैसेजिंग एप्स से अलग क्यों है यह ।

सिग्नल एक मैसेजिंग एप है जिसे बहुत सुरक्षित माना जा रहा है इसमें सर्वश्रेष्ठ इंक्रिप्शन का इस्तेमाल किया गया है   इसे ऐसे मैसेजिंग विकल्प के रूप में देखा जा रहा है जिसकी प्राइवेसी व्हाट्सएप, फेसबुक मैसेंजर, स्काइप, आईमैसेज और एसएमएस के बजाय उच्च श्रेणी की मानी जा रही है। यहां हम आपको यह बताने की कोशिश कर रहे हैं कि आप वर्तमान में ऊपर बताए गए मैसेजिंग एप्स में से कोई इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपको भी सिग्नल ऐप पर स्विच करने के बारे में गंभीरता से विचार क्यों करना चाहिए।

Signal-The best messaging app

नो-लॉग वीपीएन गोपनीयता के लिए इसका महत्व No-Log VPN, it's Important for Privacy

नो-लॉग वीपीएन क्या है, और यह गोपनीयता(Privacy) के लिए इतना महत्वपूर्ण क्यों है? What is no log VPN and why it is so imprtant for privacy?

वीपीएन सेवाओं का सबसे बड़ा फायदा यह है कि वे हमें यह विश्वास दिलाते हैं कि वह कभी भी आपकी गतिविधियों का लॉग नहीं रखते हैं। इसने उनकी वेबसाइटों पर बहुत असर डाला और अपनी विपणन सामग्री में प्रमुखता से शामिल किया गया। लेकिन असल में लॉग होता क्या हैं, वास्तव में, कौन सी चीज किसी भी वीपीएन को "नो-लॉग" या "शून्य लॉग"(“no-log” or “zero-log”) वीपीएन बनाती है? इस आर्टिकल में हम यह भी जानने की कोशिश करेंगे कि क्या "नो-लॉग" या "शून्य लॉग"(“no-log” or “zero-log”) का दावा करने वाले वीपीएन सचमुच नो कोई लोग अपने डेटा बेस में स्टोर करके नहीं रखते है और अगर कोई वीपीएन सचमुच नो लोग वीपीएन है तो यह हम कैसे जाने कि यह सचमुच नो लोग वीपीएन है इन्हीं विषयों पर डिस्कस करते हैं सभी ब्राउज़र(Browsers) में एक इनकॉग्निटो मॉड भी उपलब्ध होता है जब भी आप इनकॉग्निटो मोड में होते हैं, तो उस अवधि में आपका ब्राउज़र आपके द्वारा देखी गई साइटों का डेटा संग्रहीत नहीं करेगा: कोई URL नहीं, कोई कुकीज़ नहीं, आपके द्वारा दर्ज किए गए डेटा में से कोई भी नहीं, यानी कुछ भी नहीं। इस विषय में अगर आप इनकॉग्निटो मोड और वीपीएन में क्या फर्क हैWhat’s the Difference Between Incognito Mode and VPN यह जानना चाहे तो यह लेख यहां क्लिक करके पढ़ सकते हैं

 

No-log VPN, Zero log VPN