google-site-verification: googlefcc831f3afff5489.html google-site-verification=XK9IDkjU7jjUURp5A425iStvbYoDk39UO0ryXDjSqWw google-site-verification: googlefcc831f3afff5489.html SSD Vs HDD: What's the Difference Which one you must Choose ~ Blog on Computer, Blogging, Mobile Phones,Technology Network security tips banking Frauds, Malware,

SSD Vs HDD: What's the Difference Which one you must Choose

HDD क्या है? SSD क्या है? HDD और SSD में क्या फर्क ? HDD और SSD में अच्छी कौंनसी है ? आपको कौनसी खरीदनी चाहिए  HDD, SSD या दोनों और क्यों?

 

एचडीडी और एसएसडी(HDD and SSD) क्या हैं तथा इन दोनों में क्या अंतर है? इन दोनों में से आपके लिए कौनसी सही है? और अगर आप नई डिस्क ड्राइव खरीदने की सोच रहे हैं तो आपको कोनसी खरीदनी चाहिए? यानि आपकी आवश्यकताओं के अनुसार इन दोनों में से आपके लिए कोन सी ज्यादा बेहतर है? हमारे आज के लेख का विषय यही है और हम एक एक बिंदु पर विस्तार से डिसकस करेंगे। हम इस विषय में आपके सभी सवालों के जवाब देने तथा आपकी सभी शंकाओं का समाधान करने की कोशीस करेंगे। आप कमेंट के जरिये हमसे सवाल भी पूछ सकते हैं जिनका आपको यथाशीघ्र जवाब निश्चय ही मिलेगा।

 

SSD vs HDD: Which is Better for you

इस विषय में आप लोगों में से कुछ लोग तो जानते भी होंगे लेकिन अधिकांश लोगों को जानकारी नहीं होती। वे लोग जब नया कंप्यूटर सिस्टम खरीदने की प्लान बनाते हैं  तब, उनके  मन में ये चिंता हमेशा रहती है, कि उन्हें अपने कंप्यूटर(Computer) में स्टोरेज(Storage) के लिए कोन सी डिस्क ड्राइव(Disk Drive) लेना बेहतर रहेगा और उनके पास केवल तीन विकल्प होते हैं पहला विकल्प पारम्परिक हार्ड डिस्क ड्राइव(Traditional Hard Disk Drive), दूसरा विकल्प आधुनिक सॉलिड स्टेट ड्राइव(Modern Solid State Drive) और तीसरा विकल्प पारम्परिक हार्ड डिस्क ड्राइव(Traditional Hard Disk Drive) और आधुनिक सॉलिड स्टेट ड्राइव(Modern Solid State Drive) का कॉम्बिनेशन अर्थात दोनों ड्राइव एक साथ।

 

YOU MAY LIKE TO READ ON - How to setyour blog header image alignment using Blogger Template Designer


पारम्परिक हार्ड डिस्क ड्राइव(Traditional Hard Disk Drive) क्या है

 

आम बोल चाल की भाषा में इसे HDD या हार्ड डिस्क नाम से जाना जाता है। हार्ड डिस्क ड्राइव(Hard Disk Drive). क्या है यह आप सभी लोग भली भांति जानते हैं। हार्ड डिस्क ड्राइव(HDD) को सबसे पहले सन 1956 में विश्व की नामी कंप्यूटर निर्माता कंपनी IBM(International Business Machine) ने मार्केट में उतारा था। आप सभी शायद ये बात जान के हैरान हो गए होंगे लेकिन ये सच है कि ये टेक्नोलॉजी साठ साल से भी अधिक समय से मार्केट में राज कर रही  है। एक HDD में Magnetism का इस्तेमाल करके डाटा(Data) को स्टोर(Store) किया जाता है

 

इसमें एक डिस्क(Platter) लगातार घूमता रहता(Constantly Spinning) है तथा उसके ऊपर एक रीड/राइट हैड(Read/Write Head) Float करता रहता है, जो  Data को HDD पर लिखने(Write), उपरिलेखन(ओवर्राइट Over write) करने और Data को पढ़ने(Read) का काम करता है जितनी तेजी से ये Rotating Platter घूम सकती है उतनी तेजी से ही HDD Perform कर सकता है. आज के दौर में एक सामान्य लैपटॉप या कंप्यूटर में लगी Hard Disk  Drive आम तोर पर  5400 RPM (Revolutions Per Minute) या 7200 RPM की गति से घूमती है वहीँ कुछ अत्याधुनिक उपकरण   तो 15,000 RPM तक भी Spin कर लेते हैं।

 

HDD को इस्तेमाल करने का एक सबसे बड़ा फायदा ये है कि इसकी कीमत काम होने के कारण आप इस में आप बहुत ही कम कीमत में बहुत अधिक डाटा स्टोर( Data Store) करके रख सकते हैं। आज कल तो एक टीबी(लग भाग 1000 जीबी) (1 TB Storage approximately 1000 GB) तक स्टोरेज  बहुत ही सामान्य  बात है।

 

YOU MAY LIKE TO READ ON - ComputerEye Syndrome or the digital Eye strain-causes, symptoms safety measures


और दिन दिन एचडीडी(HDD) का उपयोग करने वालों की संख्या बढ़ती ही जा रही है. . HDD का SSD की तुलना में आज लोगों की पहली पसंद होने का पहला कारण भी इसका सस्ता होना ही हैं। क्यूंकि अगरकीमत की तुलना की जाये तो HDD की कीमत SSD के मुकाबले एक तिहाई या एक चौथाई(One third or One fourth) ही होती है।

 

अगर एचडीडी(HDD) के लुक की बात करें तो यह बाहर से एकदम एसएसडी(SSD) के समान ही दिखती है। और HDD में SATA(Serial Advanced Technology Attachment) का इस्तेमाल होता है।

 

अगर साइज की बात करें तो एक सामान्य एचडीडी(HDD) उदहारण के लिए Laptop Hard Drives की Common Size 2.5” Form Factor होती है तथा एक सामान्य Desktop की Hard Drive का आकार लगभग 3.5” Form Factor.होता है जो लैपटॉप की एचडीडी की अपेक्षा थोडा बड़ा होता है।

 

एचडीडी(HDD) की स्टोरेज क्षमता की बात करें तो, स्टोरेज की क्षमता भी Platter की Size पर निर्भर करती है। जितनी ज्यादा बड़ी Platter की Size होगी उतनी ही ज्यादा एचडीडी(HDD) की  स्टोरेज की क्षमता होगी। आजकल डेस्कटॉप कम्प्यूटर में 6 टीबी स्टोरेज क्षमता तक की एचडीडी(HDD) देखी गयी हैं।

 

YOU MAY LIKE TO READ ON - How to Remove High Risk Dangerous Trojan.BitcoinMiner 

 

आधुनिक सॉलिड स्टेट ड्राइव(Modern Solid State Drive) क्या है?

 

वैसे तो SSD की परिकल्पना  पहली बार 1978 में की गयी थी परन्तु इसे मूर्त रूप 1991 में ही दिया जा सका जब स्टोरेज टेक्नोलॉजी कारपोरेशन(Storage Technology Corporation) ने 45 MB की SSD मार्केट में उतरी। वर्तमान में 250GB से लेकर 100TB तक की SSD मार्किट में उपलब्ध है।

 

SSD अभी भी HDD जितनी लोकप्रिय नहीं हुई  है और अगर आप SSD के बारे में अधिक नहीं जानते तो कोई बात नहीं में आपको विस्तार से बताऊंगा कि SSD क्या है? SSD का Full Form तो मैं ऊपर बता ही चूका हूँ। SSD भी एक Memory Device ही है, Pen Drive की तरह ही। फर्क केवल इतना है कि इस में ज्यादा Space होता है, और ये थोड़ा ज्यादा Sophisticated Device भी है।

 

YOU MAY LIKE TO READ ON - 10 most popular Graphics cards ranked, from fastest toslowest


Memory Stick के जैसे ही इस में भी कोई Moving Parts नहीं होते है। यहाँ Data को Micro Chip में Store करके रखा जाता है। SSD में डेटा स्टोर करने के लिए एकीकृत सर्किट असेंबली(Inntegrated circuit assemblies) का उपयोग किया जाता है, आमतौर पर फ्लैश मेमोरी का उपयोग करता है, और कंप्यूटर स्टोरेज के पदानुक्रम में सेकेंडरी स्टोरेज(Secondary storage in the hierarchy of computer) के रूप में कार्य करता है।

 

एक Hard Disk Drive में एक Mechanical Arm होती है जिस में Read/Write Head होता है तथा Information को Read उसकी मदद से  किया जाता है। सही Location से Storage Platter में यही अंतर SSD को ज्यादा Faster बना देता है।

 

SSD में NAND-Based Flash Memory(non-volatile storage technology) का इस्तेमाल होता है। ये एक Non-Volatile Memory होती है। Non-Volatile शब्द का अर्थ होता है कि जो चीज वाष्प बन क्र उड़ती हो अर्थात   जब भी आप Disk को बंद कर देते हैं तब भी इस में जो चीज़ Store होती हैं, उसमें कोई लोस्स नहीं होगा यह किसी Permanent Memory का बहुत ही बड़ा Feature होता है।

 

जब स्टोरेज टेक्नोलॉजी कारपोरेशन(Storage Technology Corporation) ने 1991 में पहली बार SSD को मार्केट में उतरा  तब लोगों को इस के ऊपर इतना विश्वास नहीं था। असल में SSD को मार्किट में ज़माने में दशकों लग गए लेकिन अब इस  Technology को बहुत लोगों तक पहुँचाया जा रहा है और इसे पसंद भी किया जा रहा है

 

YOU MAY LIKE TO READ ON - अपना विंडोज पासवर्ड ऐसे बदलें या रीसेट करें Change or reset your Windows password

 

एक SSD में रीड तथा राईट(Read and write) के लिए किसी प्रकार का Mechanical Arm नहीं होता है बल्कि यह काम  एक Embedded Processor द्वारा किया जाता है।

 

Controller का इस्तेमाल करके  SSD की Speed का पता लगाया जा सकता है। एक अच्छा Controller ही अच्छे SSD की असली पहचान होता है। SSD को Plastic या फिर Metal Case में Encased कर के रखा जाता है। ये दिखने में किसी Battery की  तरह ही दिखती है।

 

SSD का फॉर्म फैक्टर(Form Factor) किसी सामान्य हार्ड डिस्क ड्राइव के समान ही होता है। इसके स्टैण्डर्ड साइज  1.8”,2.5”, और 3.5” जो बहुत सरलता से हाउसिंग(Housing) अथवा कनेक्टर्स(Connectors) में एडजस्ट हो जाते  है।

 

YOU MAY LIKE TO READ ON - Complete Guide on YouTube subscribe and join difference benefits

 

HDD और SSD में क्या अंतर है? HDD vs SSD which one is better?

 

अब में आपको यह बताऊंगा कि SSD और HDD में क्या अंतर है, इसी विषय में मैं आपको पूरी जानकरी देने जा रहा हूँ, जिससे आपको बहुत ही आसानी से चुन सकेंगे कि आपको आखिर अपने नए (New) Computer के लिये क्या खरीदना बेहतर होगा

 

S.N.

Attribute

SSD (Solid State Drive)

HDD (Hard Disk Drive)

1

Capacity

ये ऊंची कीमत के कारण ज्यादा  Capacity वाली कम बनायीं जाती हैं । 

यह ज्यादा Capacity वाली बनायीं जाती हैं।

2

Cost

यह महँगी होती है।

ये SSD की तुलना में सस्ती होती  है।

3

Encryption

Full Disk Encryption (FDE) होती हैं।

Full Disk Encryption (FDE) होती हैं।

4

Failure Rate

Mean Time Between Failure Rate of 2.0

Mean Time Between Failure Rate of 1.5

5

File Opening Speed

HDD की तुलना में 30%   Fast

SSD की तुलना में काफी Slow होता

6

File Copy / Write Speed

Copy करने की Speed 200 MB/s से 550 MB/s

Copy करने की Speed 50 MB/s से 120 MB/s

7

Power Consumption

Less Power Consumption

More Power Consumption

8

Heat Produced

कम Heat पैदा होती हैं।

ज्यादा Heat पैदा करती है,

9

Moving Parts

कोई Moving Parts नहीं

Moving Parts है

10

Magnetism Affected

Magnetism Effect से Safe

Magnets का काफी असर पड़ता है।

11

Noise

ज्यादा Sound पैदा नहीं होती

Clicks और Spinning की Sounds आती रहती हैं।

12

Operating System Boot Time

Average Bootup Time 10-13 Seconds

Average Bootup Time 30-40 Seconds

13

Power Draw / Battery Life

कम Power का इस्तेमाल  Averages लग-भग 2 से 3 Watts जिसके चलते 30+ Minute की Battery Boost

ज्यादा Power का इस्तेमाल Averages लग-भग 6 से 7 Watts इसलिए ये ज्यादा Battery का इस्तेमाल करता है।

14

Vibration

Moving Part होने के कारण इस में Vibration नहीं

Platters की Spinning के चलते Vibration होना एक आम बात हैं।

 

आपके लिए HDD बेस्ट है अगर:-

 

आपको अधिक भंडारण क्षमता(Storage Capacity) की आवश्यकता है।

आप काम पैसे खर्च करके अधिक भंडारण क्षमता(Storage Capacity) प्राप्त करना चाहते हैं।     

आपको Computer की बूट अप स्पीड(Boot up Speed) की ज्यादा परवाह नहीं. है।

आपको कॉपी(Copy) करने की क्ष्य्मता और स्पीड को लेकर ज्यादा चिंता नहीं है।

आपको पावर खर्च(power Consumption) की कोई चिंता नहीं है।

तो आपके लिए HDD ही सर्वश्रेष्ठ विकल्प साबित हो सकता है।  

 

YOU MAY LIKE TO READ ON - 15 Must Do Things You Must Do BeforeApplying for Google AdSense in 2021


आपके लिए SSD ठीक रहेगा अगर:-

 

आप Computer की फास्टर परफॉरमेंस(Faster Performance) के लिए थोड़ा ज्यादा खर्च करने को तैयार हैं ।

आप भण्डारण क्षमता(Storage Capacity) के बारे में ज्यादा चिंतित नहीं है तथा कम भण्डारण(Storage) में भी काम चला सकते हैं।

आपको डिवाइस के फ़ास्ट बूट अप टाइम की जरुरत है।

आपको फ़ास्ट प्रोग्राम/फाइल ओपनिंग की जरुरत है।

आपको नॉइज़ पसंद नहीं है।

आपको पावर खर्च(Power  Consumption) कम करने में रूचि है। 

तो आपके लिए SSD ही सर्वश्रेष्ठ विकल्प साबित हो सकता है।  

 

हार्ड डिस्क ड्राइव(Traditional Hard Disk Drive) और आधुनिक सॉलिड स्टेट ड्राइव(Modern Solid State Drive) का कॉम्बिनेशन

 

इस विकल्प में आपकी डिवाइस में HDD और SSD दोनों होती हैं।

आजकल यह विकल्प सब से ज्यादा इस्तेमाल हो रहा है और सब से ज्यादा लोकप्रिय भी है।

कंप्यूटर बूटिंग अप, काम करने तथा करंट फाइल्स(computer booting up work and Current Files) के लिए SSD का इस्तेमाल होता है।

जिन फाइलों को अपेक्षाकृत काम खोलने की जरुरत पड़ती है या जो फाइलें कभी कभार ही काम आती हैं या बहुत बड़ी हैं  उनको HDD में स्टोर किया जाता है।

अगर आप नया सिस्टम खरीदने की योजना बना रहे हैं तो इससे अच्छा कोई विकल्प नमीं है।

 

YOU MAY LIKE TO READ ON - How to Show or Hide Firefox Bookmarks Toolbar फायरफॉक्स बुकमार्क्स टूलबार


तो यह थी पारम्परिक हार्ड डिस्क ड्राइव(Traditional Hard Disk Drive) और आधुनिक सॉलिड स्टेट ड्राइव(Modern Solid State Drive) की लंबी चौड़ी राम कहानी जो हमने आपकी सेवा में प्रस्तुत की । आशा करते हैं कि हमारा प्रयास आपको पसंद आया होगा । कृपया हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब करें । हमारी पोस्ट को अपने मित्रों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करें । अपनी राय हमें कमेंट के जरिए दें । हमारी वेबसाइट पर विजिट करने के लिए धन्यवाद। अगर आप हमसे कुछ और पूछना चाहते हैं या हमसे संपर्क करना चाहते हैं तो हमारी पोस्ट पर कमेंट करके या हमारी वेबसाइट के होम पेज पर मौजूद कांटेक्ट फार्म का इस्तेमाल करके हमसे संपर्क कर सकते हैं । अगर आप हमसे संपर्क करेंगे तो हमें बहुत प्रसन्नता होगी । नमस्कार धन्यवाद आपका दिन शुभ हो ।

Should I get SSD and HDD or or both, difference between SSD and HDD, hdd vs ssd speed, ssd vs hdd lifespan, Should I get SSD and HDD or both, advantages of SSD and HDD for a new computer,

 

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें

Please Donot spam