google-site-verification: googlefcc831f3afff5489.html google-site-verification=XK9IDkjU7jjUURp5A425iStvbYoDk39UO0ryXDjSqWw google-site-verification: googlefcc831f3afff5489.html नो-लॉग वीपीएन गोपनीयता के लिए इसका महत्व No-Log VPN, it's Important for Privacy ~ Blog on Computer, Blogging, Mobile Phones,Technology Network security tips banking Frauds, Malware,

नो-लॉग वीपीएन गोपनीयता के लिए इसका महत्व No-Log VPN, it's Important for Privacy

नो-लॉग वीपीएन क्या है, और यह गोपनीयता(Privacy) के लिए इतना महत्वपूर्ण क्यों है? What is no log VPN and why it is so imprtant for privacy?

वीपीएन सेवाओं का सबसे बड़ा फायदा यह है कि वे हमें यह विश्वास दिलाते हैं कि वह कभी भी आपकी गतिविधियों का लॉग नहीं रखते हैं। इसने उनकी वेबसाइटों पर बहुत असर डाला और अपनी विपणन सामग्री में प्रमुखता से शामिल किया गया। लेकिन असल में लॉग होता क्या हैं, वास्तव में, कौन सी चीज किसी भी वीपीएन को "नो-लॉग" या "शून्य लॉग"(“no-log” or “zero-log”) वीपीएन बनाती है? इस आर्टिकल में हम यह भी जानने की कोशिश करेंगे कि क्या "नो-लॉग" या "शून्य लॉग"(“no-log” or “zero-log”) का दावा करने वाले वीपीएन सचमुच नो कोई लोग अपने डेटा बेस में स्टोर करके नहीं रखते है और अगर कोई वीपीएन सचमुच नो लोग वीपीएन है तो यह हम कैसे जाने कि यह सचमुच नो लोग वीपीएन है इन्हीं विषयों पर डिस्कस करते हैं सभी ब्राउज़र(Browsers) में एक इनकॉग्निटो मॉड भी उपलब्ध होता है जब भी आप इनकॉग्निटो मोड में होते हैं, तो उस अवधि में आपका ब्राउज़र आपके द्वारा देखी गई साइटों का डेटा संग्रहीत नहीं करेगा: कोई URL नहीं, कोई कुकीज़ नहीं, आपके द्वारा दर्ज किए गए डेटा में से कोई भी नहीं, यानी कुछ भी नहीं। इस विषय में अगर आप इनकॉग्निटो मोड और वीपीएन में क्या फर्क हैWhat’s the Difference Between Incognito Mode and VPN यह जानना चाहे तो यह लेख यहां क्लिक करके पढ़ सकते हैं

 

No-log VPN, Zero log VPN

लॉग क्या हैं?What Are Logs?

संक्षेप में, एक लॉग अथवा लॉग फ़ाइल एक रिकॉर्ड होता है जो - दो सर्वरों के बीच की सभी घटनाओं का रिकॉर्ड करता है जिसमें प्रत्येक घटना का एक्यूरेट समय भी साथ ही दर्ज हो जाता है। उदाहरण के लिए जब आप गूगल के वेब पेज पर गए, तो आपका कंप्यूटर आपके इंटरनेट सेवा प्रदाता के नेटवर्क के माध्यम से गूगल के सर्वर तक पहुंच गया। ISP और गूगल सर्वर दोनों ने अपने लॉग में इस को नोट कर लिया। इस लॉग को आपके सिस्टम प्रशासक(Systems Administrator) या आईएसपी(ISP) तथा गूगल के सरवर का सिस्टम प्रशासक(Systems Administrator) जब चाहे देख सकते हैं इस के साथ-साथ वह सभी वेबसाइट जिन्हें आपने देखा है भी इस लॉग को देख सकती है

 

YOU MAY LIKE TO READ ON - TrojanCryptowall-The most harmful Malcode, precautions, actions and removal


 

लॉग रिकॉर्ड में आपका आईपी पता(IP address), आपके साइट के साथ जुड़ने का समय, आपके डिस्कनेक्ट होने का समय और आपके कनेक्टेड रहने की अवधि शामिल होती है। हालांकि यह बहुत सामान्य सी जानकारी की तरह लगता है, लेकिन मार्केटर्स के लिए यह सोने और हीरे से भी महंगी हो सकती है। वे आपके आईपी पता(IP address) का उपयोग करके आप के सामान्य निवास स्थान को चिन्हित कर सकते हैं, फिर आपके कनेक्शन समय और अवधि के आधार पर आपकी ब्राउज़िंग आदतों(Browsing habits) का पता लगा सकते हैं तथा उसके आधार पर टारगेटेड विज्ञापन डिस्प्ले कर सकते हैं।

 

लॉग का उपयोग कॉपीराइट वॉचडॉग द्वारा यह पता लगाने के लिए भी किया जा सकता है कि आपने किस फ़ाइल के लिए और कब बिटटोरेंट का उपयोग किया था, या कानून प्रवर्तन एजेंसियों(Law enforcement agencies) द्वारा, यह निर्धारित करने के लिए भी किया जा सकता है कि धमकी भरा, या आपत्तिजनक या मेलीशियस ईमेल किसने भेजा था। हालाँकि, इस डेटा संग्रह से बचने का भी एक तरीका है, जिसे वीपीएन(VPN) कहते हैं

 

YOU MAY LIKE TO READ ON - कैसे पता करें आपकी हार्ड ड्राइव ठीक काम कर रही है या नहीं


 

वीपीएन और लॉगVPNs and Logs

 

वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क(VPN) एक प्रोग्राम है जो आपको अपने स्वयं के सर्वर का उपयोग करके इंटरनेट से जुड़ने की सुविधा देता है तथा अपना आईपी ऐड्रेस(IP Address) इस्तेमाल करने की इजाजत देता है । इसका मतलब यह है कि आपके द्वारा विजिट की जाने वाली वेबसाइटों(Websites) को आपके आईपी ऐड्रेस(IP Address) के बजाय वीपीएन सर्वर का आईपी ऐड्रेस(IP Address) दिखाई देगा, जिसका अर्थ है कि वे आपको इतने आसानी से पहचान नहीं सकते हैं।

 

यह एक दूसरे तरीके से भी काम करता है: वीपीएन के कनेक्शन को स्थापित करने के तरीके के लिए धन्यवाद, इस तरीके में केवल आपका आईएसपी(Internet service provider) या बॉस(If you are an employee) वीपीएन सर्वर के लिए आपके द्वारा किए गए कनेक्शन को देख सकता है लेकिन किसी भी ऐसी साइट पर किए गए कनेक्शन को नहीं जिसे आप वीपीएन के इंक्रिप्टेड टनल(Encrypted tunnel)) के माध्यम से एक्सेस कर रहे हैं।

 

चाहे कितने भी दावे करें लेकिन इस सब के विपरीत, यह आपको ब्राउज़ करते समय अज्ञात (Unidentified) रखने के लिए पर्याप्त(sufficient) नहीं है। यदि आप अपने सामान्य ब्राउज़र से ब्राउज़ करते हैं, तो इसकी कुकी आपको ट्रैक करने में वेबसाइटों को मदद कर सकती हैं। इसे यूं समझे: यदि आप एक वीपीएन से कनेक्ट करते हैं और फिर अपने Google खाते में साइन इन करते हैं, तो Google अब जान सकता है कि आप कौन हैं। +

 

YOU MAY LIKE TO READ ON - ऑनलाइन शॉपिंग- खतरे एवं बचाव के उपाय Online Shop:Security risks & safety tips

 

नो-लॉग वीपीएन क्या होता है?What Is a No-Log VPN?    

 

जब आप दो सर्वरों के बीच कनेक्शन करते हैं, तो स्वचालित रूप से एक लॉग बन जाता है तथा इससे बचने का कोई रास्ता नहीं है इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप सीधे अपने आईएसपी(ISP) के सर्वर से कनेक्ट कर रहे हैं या अपने वीपीएन का उपयोग कर रहे हैं, कहीं कहीं एक लॉग फ़ाइल अवश्य होती है। संक्षेप में, आप वीपीएन(VPN) के माध्यम से जो कर रहे हैं वह आपके आईएसपी(ISP) के लॉग को आपके वीपीएन के लॉग से बदल रहा होता है अर्थात आपका लॉग वीपीएन सर्वर(VPN Server) में ही सेव हो रहा है। तकनीकी रूप से, लॉग आपके वीपीएन सर्वर में सेव होगा तथा सभी मार्केटर्स(Marketers), कोई अन्य या कानून प्रवर्तन एजेंसियों(Law enforcement agencies) जिस को भी आवश्यकता हो आपके लॉग के लिए वीपीएन से पूछना होगा, और उनके पास आपके बारे में सभी आवश्यक जानकारी होगी।

 

यह एक स्पष्ट अनियमितता है, लेकिन फिर भी वीपीएन वादा करता है कि वे लॉग नहीं रखेंगे- या कम से कम, उस तरह का तो नहीं ही रखेंगे जिसका उपयोग आपको पहचानने के लिए किया जा सकता हो। उदाहरण के लिए, कई वीपीएन सेवा प्रदाता कनेक्शन लॉग (जिसे नेटवर्क लॉग भी कहा जाता है) और एक गतिविधि लॉग (या ब्राउज़िंग लॉग) के बीच अंतर करते हैं।

 

YOU MAY LIKE TO READ ON - व्हाट्सएप डिसअपीयरिंग मैसेज फीचर Whatsapp Disappearing messages message Feature 

 

जो अन्य वेबसाइटों के साथ बने वीपीएन सर्वर के कनेक्शन का रिकॉर्ड रखता है वह कनेक्शन लॉग कहलाता है और यह  तकनीकी रूप से कम से कम आपके बारे में किसी भी पहचान की जानकारी से रहित होना चाहिए, जबकि गतिविधि लॉग दिखाता है कि आप कब और कहां से कनेक्ट हुए हैं। वैसे तो यह वीपीएन सेवा प्रदाता पर निर्भर करता है, लेकिन प्रैक्टिकली कुछ वीपीएन सेवा प्रदाता तो गतिविधि लॉग नहीं रखने का दावा करेंगे, जबकि कुछ अन्य सेवा प्रदाता तो((नेटवर्क लॉग और ब्राउज़िंग लॉग)) दोनों ही तरह के लॉग नहीं रखने का दावा करते हैं।

 

किसी भी मामले में, सैद्धांतिक रूप से, आपकी ब्राउज़िंग गुमनाम(Anonymous) होनी चाहिए। वेबसाइटें केवल अपने लॉग में वीपीएन के आईपी को देख सकेंगे, तथा कानून प्रवर्तन एजेंसियों से प्राप्त जानकारी के लिए अनुरोध में भी कुछ भी नहीं निकलेगा, क्योंकि किसी तरह की लॉग फाइलें तो मौजूद ही नहीं हैं- यानी, यदि वीपीएन को भी अनुरोधों का पालन करने की आवश्यकता पढ़ती है तो ऐसा करने में समर्थ नहीं होगा

 

YOU MAY LIKE TO READ ON - How toremove Winpc Defender its actions and precautions


 

आप कैसे कैसे पता करें कि वीपीएन कोई लॉग नहीं रखता है?How to Know VPN Doesn’t Keep Logs?

 

नो-लॉग पॉलिसी आपको गुमनाम(Anonymous) रखने के वीपीएन(VPN) सेवा के वादे की आधारशिला है। हालांकि इसमें, कुछ ईशु(Issues) भी मौजूद हैं जिन में दो सबसे महत्वपूर्ण है वीपीएन(VPN) द्वारा किए गए वादों को साबित करना लगभग असंभव है इसे यूं समझिए की वीपीएन सर्वर में हमारी एक्टिविटी का लोग है या नहीं यह हम कैसे देखेंगे

 

पहला मुद्दा तो यह है कि यह विश्वास करना थोड़ा मुश्किल लगता है कि वीपीएन(VPN) मैं कोई लॉग नहीं रखा जा रहा है आपको किसी कनेक्शन के लिए किसी किसी प्रकार का कोई रिकॉर्ड तो रखना ही पड़ता है। इस बात पर तो फिर भी विश्वास किया जा सकता है कि लॉग जैसे ही वे बनाए जाते हैं, नष्ट हो जाते हैं यह मैनुअली नष्ट कर दिए जाते हैं

 

दूसरा मुद्दा यह है कि बाहर से यह साबित करने का कोई तरीका नहीं है कि वीपीएन द्वारा लॉग नहीं रखा जा रहा है। किसी भी साइट के लिए ऐसा करने का कोई तरीका नहीं है। तथ्यों का पता लगाने के लिए आपको किसी प्रकार के व्यवस्थापक अधिकार(Admin authority) की आवश्यकता होगी। भले ही आपको व्यवस्थापक अधिकार(Admin authority) दिए गए हो, लेकिन फिर भी, भी साबित करना मुश्किल है। हो सकता है कि वीपीएन सिर्फ आपकी जांच की अवधि के लिए आपत्तिजनक लॉग को अस्थाई रूप से हटा देता हो

 

YOU MAY LIKE TO READ ON - Secure Wireless (Wi-Fi) Home Network From hackers Wi-Fi thives 

 

इन दो मुद्दों का कुल मिलाकर अर्थ यह है कि आप वास्तव में अपने डेटा को सुरक्षित रखने के लिए वीपीएन पर भरोसा कर रहे हैं। आपको भरोसा करना है या नहीं करना है यह निर्णय आपको करना है हालांकि हम आपको सलाह देंगे कि आपको वीपीएन चुनने से पहले उसके बारे में इंटरनेट पर रिव्यू पढ़िए और उन लोगों के रिव्यु पर विशेष ध्यान दीजिए जिनको आप जानते हैं या उनको आप विश्वसनीय मानते हैं । 

 

कोई भी वीपीएन सेवा लेने का निर्णय करने से पहले आपको यह सोचना आवश्यक है कि वीपीएन सर्वर कानून से ऊपर नहीं है । उसके ऊपर अपने लोकेशन के अनुसार सभी स्थानीय कानून तथा उसके द्वारा प्रदान की जा रही सेवा के अनुसार सभी अंतरराष्ट्रीय नियम लागू होंगे । इसलिए सबसे पहले यह सोचना आवश्यक है कि क्या ऐसा संभव है कि कोई इस तरह की सेवाएं भी प्रदान कर सकता है ।

 

YOU MAY LIKE TO READ ON - एंड्रॉइड डिवाइस पर स्पेस खाली करने के तरीकेHow to Free Up Space Android Device


 

आशा करते हैं कि हमारा प्रयास आपको पसंद आया होगा कृपया हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब करें हमारी पोस्ट को अपने मित्रों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करें अपनी राय हमें कमेंट के जरिए दें हमारी वेबसाइट पर विजिट करने के लिए धन्यवाद। अगर आप हमसे कुछ और पूछना चाहते हैं या हमसे संपर्क करना चाहते हैं तो हमारी पोस्ट पर कमेंट करके या हमारी वेबसाइट के होम पेज पर मौजूद कांटेक्ट फार्म का इस्तेमाल करके हमसे संपर्क कर सकते हैं अगर आप हमसे संपर्क करेंगे तो हमें बहुत प्रसन्नता होगी नमस्कार धन्यवाद आपका दिन शुभ हो No-log VPN: What is it, Is no log VPN safe? What is VPN log, What is a no-log VPN? zero log VPN, Can police track VPN,, How do I find my VPN log

0 टिप्पणियाँ:

टिप्पणी पोस्ट करें

Please Donot spam