google-site-verification: googlefcc831f3afff5489.html google-site-verification=XK9IDkjU7jjUURp5A425iStvbYoDk39UO0ryXDjSqWw google-site-verification: googlefcc831f3afff5489.html How to enable Android USB Debugging, Is It Safe Leaving Enabled ~ Computer, Blogging, Mobile Phones,Technology Networking, security tips, online Frauds, Malware

How to enable Android USB Debugging, Is It Safe Leaving Enabled

एंड्रॉइड यूएसबी डिबगिंग क्या है, और क्या इसे 
एंड्रॉइड पर हमेशा सक्षम रखना  सुरक्षित है? What 
is Android USB Debugging, and  is it safe to 
always have it enabled on Android? 

 

यदि आप डेवेलोपर नहीं है तो भी आपने कभी ना कभी अपने एंड्राइड(Android) फ़ोन पर कुछ ना कुछ डेवेलोप करने का प्रयास जरूर किया होगा । और कुछ नहीं तो संभवतः आपने "USB डीबगिंग(USB Debugging)" तो अवश्य ही किया होगा जोकि डेवेलोपर श्रेणी में गिना जाता है तथा आमतौर पर सभी द्वारा बार बार उपयोग किया जाने वाले इस विकल्प को एंड्रॉइड के डेवलपर विकल्प मेनू(Developer Menu Option)  के तहत बड़े करीने से रखा गया है, लेकिन फिर भी कुछ उपयोगकर्ता इसे बिना सावधानी पूर्वक विचार किए और यह जाने बिना कि यह वास्तव में क्या करता है इसे सक्षम कर देते हैं –

 

Android USB debugging enable/disable

उदाहरण के लिए, यदि आपको कभी नेक्सस डिवाइस पर फ़ैक्टरी इमेज फ्लैश करने या डिवाइस को रूट करने के लिए एडीबी (एंड्रॉइड डिबगिंग ब्रिज) का उपयोग करने की आवश्यकता पड़ी हो, तो निश्चय ही आप पहले से ही यूएसबी डिबगिंग का उपयोग कर चुके हैं, चाहे आपने इसे महसूस किया हो या नहीं ।

संक्षेप में, यूएसबी डिबगिंग(USB Debugging) एक एंड्राइड(Android) डिवाइस के लिए USB कनेक्शन पर एंड्राइड एसडीके(Android SDK) (सॉफ़्टवेयर डेवलपर किटSoftware Developer Kit) के साथ संचार करने का एक तरीका है। यह एक एंड्रॉइड डिवाइस को पीसी से कमांड, फाइल और इसी तरह की चीजें प्राप्त करने की अनुमति देता है, और पीसी को एंड्रॉइड डिवाइस से लॉग फाइल जैसी महत्वपूर्ण जानकारी खींचने की अनुमति देता है। और आपको बस इतना करना है कि ऐसा करने के लिए एक बटन पर टिक करें।

बेशक, हर चीज का एक नकारात्मक पहलू भी होता है, और यूएसबी डिबगिंग के लिए, यह नकारात्मक पहलू है सुरक्षा। इसका कारण यह है कि, USB डिबगिंग को सक्षम किए हुए डिवाइस USB पर प्लग इन होने पर उजागर(Exposed) रहते है। अधिकांश परिस्थितियों में, यह कोई समस्या नहीं हैयदि आप फोन को अपने पर्सनल कंप्यूटर में प्लग कर रहे हैं या आप डिबगिंग ब्रिज का उपयोग करने का इरादा रखते हैं, तो यह हर समय सक्षम रहने से कतई कोई समस्या नहीं है। समस्या तब सामने आती है जब आपको अपने फोन को किसी अपरिचित यूएसबी पोर्ट में प्लग करने की आवश्यकता होती है - जैसे सार्वजनिक चार्जिंग स्टेशन या कोई ऐसा कंप्यूटर जिसके बारे में आप जानते नहीं है। ऐसी स्थिति में, अगर किसी के पास उसी चार्जिंग स्टेशन तक पहुंच हो जहां आपने यूएसबी प्लग इन की है, तो वे चाहे तो आपकी डिवाइस से निजी जानकारी को प्रभावी ढंग से चुराने के लिए यूएसबी डिबगिंग का उपयोग कर सकते थे, या उस मैं किसी प्रकार का मैलवेयर डाल सकते थे।

YOU MAY LIKE TO READ ON -  How to remove virus from an Androiddevices

अच्छी खबर यह है कि Google ने इस विषय में एक अंतर्निहित सुरक्षा जाल(Inbuilt Sesurity Network) के रूप में काफी सुदृढ़  व्यवस्था की है और  है: अब यूएसबी डिबगिंग एक्सेस के लिए प्रति-पीसी प्राधिकरण(Authentication) आवश्यक होगा। जब आप एंड्रॉइड डिवाइस को एक नए पीसी में प्लग करते हैं, तो यह आपको यूएसबी डिबगिंग कनेक्शन को मंजूरी देने के लिए कहेगा। यदि आप पहुंच से इनकार करते हैं, तो कनेक्शन कभी नहीं खोला जाता है। यह एक ऐसी सुरक्षा है जो कभी विफल नहीं होती है, लेकिन जो उपयोगकर्ता यह नहीं जानते हैं कि यह क्या है, वे कनेक्शन को तुरंत ही बिना विचार किए मंजूरी दे सकते हैं, जो एक बुरी बात है और एक सुरक्षा जोखिम है भी।

विचार करने वाली दूसरी बात डिवाइस सुरक्षा उस स्थिति में जबकि आपकी डिवाइस खो जाए या चोरी हो जाए । किसी भी यूएसबी डिबगिंग सक्षम डिवाइस(USB Debugging Enabled Device) के साथ, कोई भी गलत-व्यक्ति प्रभावी रूप से डिवाइस पर सब कुछ तक पहुंच प्राप्त कर सकता है-भले ही उसके पास एक सुरक्षित लॉक स्क्रीन हो। और अगर डिवाइस निहित(Routed) है, तो आप इसे छोड़ भी सकते हैं: उस समय उन्हें रोकने के लिए वास्तव में कुछ भी नहीं किया जा सकता है। वास्तव में, आपको शायद यह सुनिश्चित करना चाहिए कि आपके पास अपने प्रत्येक डिवाइस पर एंड्रॉइड डिवाइस मैनेजर स्थापित है, इस तरह अगर यह खो जाता है या चोरी हो जाता है तो आप अपने डेटा को दूरस्थ रूप से मिटा सकते हैं।

 

YOU MAY LIKE TO READ ON -  How to Hide Your WhatsApp StatusFrom Specific Friends

 

ईमानदारी से कहूं तो, जब तक आप एक डेवलपर नहीं हैं, आपको शायद हर समय यूएसबी डिबगिंग को सक्षम कर के रखने की आवश्यकता नहीं है और ना ही इसे हर समय यूएसबी डीबगिंग सक्षम रखना ही चाहिए। जब भी आपको इसका उपयोग करने की आवश्यकता हो तो इसे तुरंत सक्षम करें, इसमें केवल कुछ सेकंड लगते हैं, फिर जब आपको आवश्यकता ना हो इसे अक्षम कर दें। इसे संभालने का यह सबसे सुरक्षित तरीका है। ज़रूर, यह आपको थोड़ा असुविधाजनक लग सकता है। लेकिन यह व्यवहारिक है और सुरक्षा की दृष्टि से अत्यंत आवश्यक भी ।

तो यह थी यूएसबी डिबग्गिंग तथा अगर उसे हमेशा इनेबल रखा जाये तो इससे उत्पन्न सिक्योरिटी रिस्क की राम कहानी जो हमने आपकी सेवा में प्रस्तुत की। आशा करते हैं कि हमारा प्रयास आपको पसंद आया होगा । कृपया हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब करें । हमारी पोस्ट को अपने मित्रों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करें । अपनी राय हमें कमेंट के जरिए दें । हमारी वेबसाइट पर विजिट करने के लिए धन्यवाद। अगर आप हमसे कुछ और पूछना चाहते हैं या हमसे संपर्क करना चाहते हैं तो हमारी पोस्ट पर कमेंट करके या हमारी वेबसाइट के होम पेज पर मौजूद कांटेक्ट फार्म का इस्तेमाल करके हमसे संपर्क कर सकते हैं । अगर आप हमसे संपर्क करेंगे तो हमें बहुत प्रसन्नता होगी । नमस्कार धन्यवाद आपका दिन शुभ हो ।

 

YOU MAY LIKE TO READ ON -  How to enable Power button ends call feature-Android 

 

Is it safe to leave USB Debugging on, revoke usb debugging authorization, how to turn off usb debugging android, how to turn off debugging mode android, how to enable usb debugging on android from computer

 

0 $type={blogger}:

एक टिप्पणी भेजें

Please Donot spam