google-site-verification: googlefcc831f3afff5489.html google-site-verification=XK9IDkjU7jjUURp5A425iStvbYoDk39UO0ryXDjSqWw google-site-verification: googlefcc831f3afff5489.html 10 MOST DANGEROUS Virus Malware 2021, 10 सबसे खतरनाक वायरस मैलवेयर ~ Blog on Computer, Blogging, Mobile Phones,Technology Network security tips banking Frauds, Malware,

10 MOST DANGEROUS Virus Malware 2021, 10 सबसे खतरनाक वायरस मैलवेयर

2021 के 10 नवीनतम (सबसे खतरनाक) वायरस और मैलवेयर  खतरे

लगातार नए-नए वायरस और मैलवेयर  विकसित हो रहे हैं, तथा हर नया मैलवेयर पुराने से अधिक उन्नत और अधिक खतरनाक साबित होता जा रहा है जिसके कारण आपके डेटा को संरक्षित रखना बेहद मुश्किल हो जाता है। जब तक आप ठीक से प्रोटेक्टेड नहीं होते हैं (असल में अधिकांश लोग सही तरीके से प्रोटेक्टेड नहीं हैं), तो आपको नवीनतम कंप्यूटर वायरस के खतरों और मैलवेयर के हमलों का शिकार होने का खतरा लगातार बना रहता है।

 

10 Most dangerous Virus Malware of 2021


साइबर क्रिमिनल आपके बहुमूल्य डाटा चोरी करने के उद्देश्य से आपका फोन अथवा कंप्यूटर/लैपटॉप हैक करने या अन्य इसी तरह की कार्यवाही करने के नए-नए तरीके ढूंढने के अथक प्रयास करते हैं और इसके लिए वह किसी भी तरह की कार्रवाई करने से कभी नहीं रुकेंगे। साइबर अपराधियों के टारगेट पर रहने वाले आप के डाटा में बैंक विवरण, व्यक्तिगत फोटो और संवेदनशील आईडी कार्ड की जानकारी शामिल होती है। इसलिए आपके पीसी, मैक, एंड्रॉइड या आईफोन पर एक उच्च कोटि वाला अप टू डेट एंटीवायरस इंस्टॉल होना चाहिए। हमारी राय में जो विंडोज 10 का उपयोग करने वाले उपभोक्ता है उनके लिए विंडोज डिफेंडर पर्याप्त हो सकता है लेकिन यहां यह ध्यान दें आपका विंडोज डिफेंडर अप टू डेट होना चाहिए

यहां हम साल 2021 में एक्टिव 10 सबसे खतरनाक कंप्यूटर वायरस और नए मैलवेयर खतरों का विवरण दे रहे हैं जिनसे आपको खुद को बचाने की आवश्यकता है।

RELATED - HTML Basics-10 most important HTML Tags to create a web page

1. क्लॉप रैंसमवेयरClop Ransomware

यह रैंसमवेयर श्रेणी का वायरस है "क्लॉप" नवीनतम और सबसे खतरनाक रैंसमवेयर खतरों में से एक है। यह जाने-माने CryptoMix रैंसमवेयर का एक संस्करण है, जो अक्सर विंडोज उपयोगकर्ताओं को लक्षित करता है। यह बिना आपकी जानकारी के आपके सिस्टम में घुस जाता है और आपकी फ़ाइलों को एन्क्रिप्ट कर देता है तथा उसके बाद आपसे फिरौती मांगता है जो आमतौर पर लगभग 300 अमेरिकी डॉलर के आसपास होती है इसीलिए इसे फिरौती वायरस भी कहा जाता है यह देखने में आया है कि आप हैकर्स को फिरौती दे देते हैं फिर भी आप की फाइलें रीस्टोर नहीं होती।

 यह पहले आपके सुरक्षा चक्र जैसे कि विंडोज सिक्योरिटी एसेंशियल्स, विंडोज डिफेंडर या  जो भी एंटीवायरस आपने इंस्टॉल कर रखा है उसको डिसएबल कर देता है जिसके परिणाम स्वरूप आपका सिस्टम पूर्णतया सुरक्षा रहित हो जाता है

RELATED - Top 5 Computer Viruses Mawareof 2020 and Tips to avoid them


क्लॉप रैंसमवेयर का हमला करने का तरीका इस मायने में अन्य मालवेयर से भिन्न है कि यह, पूरे नेटवर्क को टारगेट करता है कि केवल व्यक्तिगत डिवाइस। यहां तक कि नीदरलैंड में मास्ट्रिच विश्वविद्यालय क्लॉप रैंसमवेयर का शिकार हो गया, जिसके साथ विश्वविद्यालय के नेटवर्क पर लगभग सभी विंडोज उपकरणों को एन्क्रिप्ट किया गया और फिरौती देने के लिए मजबूर किया गया। लेकिन अधिकांश मामलों में यह देखा गया है कि फिरौती देने के बाद भी फाइलें डिक्रिप्ट नहीं होती इसलिए किसी प्रकार की कोई फिरौती देने का निर्णय लेने से पूर्व गंभीरता पूर्वक सोचकर निर्णय करना आवश्यक है

2. "साइबोर्ग" नकली विंडोज अपडेट (हिडन रैंसमवेयर)

यह एक खतरनाक हिडन रैंसमवेयर है जिसमें यूजर्स को एक ईमेल मिलता है जिसमें अपने विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम को तुरंत अपडेट करने की सलाह दी जाती है तथा विंडोज की सिक्योरिटी तथा परफॉर्मेंस संबंधी कई बातें बताई जाती असल में यह ईमेल हैकर की तरफ से आया हुआ होता है तथा इसमें ransomware.exe, रैनसमवेयर readers .exe जैसी खतरनाक फाइलें छुपी हुई हुई होती है।

इन ईमेल में छिपे हुए रैंसमवेयर को "साइबोर्ग" के नाम से जाना जाता है। यह आपकी सभी फाइलों और प्रोग्राम को एन्क्रिप्ट कर देता है और फाइलों को अन-एन्क्रिप्ट करने के लिए फिरौती के भुगतान की मांग करता है जो आमतौर पर $-300 के आसपास होती है। दुर्भाग्य से, कई ईमेल सेवा प्रदाता और बुनियादी एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर इन ईमेलों का पता लगाने और उन्हें ब्लॉक करने में सक्षम नहीं हैं। अधिकांश मामलों में यह सामने आया है कि फिरौती की रकम का भुगतान करने के बावजूद भी यूजर्स की फाइलें तथा प्रोग्राम अन इंक्रिप्ट नहीं होते हैं

RELATED - HTML Tutorials-UnderstandingBasic HTML rules

कृपया ध्यान दें कि माइक्रोसॉफ्ट कॉरपोरेशन विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम को अपडेट करने की सलाह कभी भी ईमेल पर नहीं देता। अगर आपको कोई ऐसा ईमेल आता भी है और आपको शंका है कि हो सकता है आपका सिस्टम अपडेट ना हो तो भी आप ऐसी मेल पर कार्रवाई नहीं करें बल्कि अपने सिस्टम में विंडोज अपडेट में जाकर चेक फॉर अपडेट्स पर क्लिक करके पता लगा ले लेकिन ईमेल पर कार्यवाही कभी भी ना करें

3. Zeus गेमओवर

 Zeus गेमओवर मैलवेयर और वायरस के लिए कुख्यात "ज़ीयस" परिवार का हिस्सा है। मैलवेयर का यह संस्करण एक ट्रोजन है - मैलवेयर इस तरह से डिजाइन किया गया है कि यह उपभोक्ताओं को लेजिटीमेट सा लगता है - लेकिन इसका उद्देश्य होता है गुपचुप तरीके से आपके संवेदनशील बैंक खाते के विवरण तक पहुंचना और आपके सभी फंडों को चुरा लेना। अब आप स्वयं इसकी गंभीरता को समझ सकते हैं

Zeus गेमओवर मैलवेयर परिवार के इस विशेष संस्करण के बारे में सबसे खतरनाक बात यह है कि लेनदेन को पूरा करने के लिए इसे किसी केंद्रीकृत "कमांड एंड कंट्रोल" सर्वर की आवश्यकता नहीं है - जो कि अथॉरिटीज के लिए एक सिरदर्द बना हुआ है। Zeus गेमओवर केंद्रीकृत सर्वर को बायपास कर सकता है और संवेदनशील जानकारी भेजने के लिए स्वतंत्र सर्वर बना सकता है। संक्षेप में इसे यूं समझिए कि, आप अपने चोरी हुए डेटा या राशि का पता भी नहीं लगा सकते।

RELATED - How to fix slow lagging  PC laptop running Windows 10 in 5 minutes

4. IoT(Internet of Things) डिवाइस अटैक

2021 जैसे-जैसे IoT (इंटरनेट ऑफ थिंग्स) उपकरणों जैसे कि स्मार्ट स्पीकर और वीडियो डोरबेल, इंटरनेट आधारित कैमरों और मिक्सर का आदि की लोकप्रियता बढ़ती जा रही है वैसे वैसे हैकर्स भी ऐसी चीजों का मूल्यवान सूचनाओं के लिए दोहन करना चाहते हैं। इसके

कई कारण हैं कि हैकर IoT उपकरणों को लक्षित क्यों करते हैं। सबसे महत्वपूर्ण तो यह है कि, अधिकांश IoT उपकरणों में उचित सुरक्षा उपाय इंस्टॉल करने के लिए पर्याप्त स्टोरेज नहीं होता है तथा इन उपकरणों में अक्सर पासवर्ड और यूजरनेम जैसे डेटा का उपयोग आसान होता है, तथा हैकर्स द्वारा लॉग इन करना आसान हो सकता है और इस प्रकार बहुमूल्य जानकारी, जैसे कि बैंकिंग विवरण चोरी कर सकते हैं और स्मार्ट बेबी मॉनिटर के माध्यम से युवा बच्चों से संपर्क कर सकते हैं ।

हैकर्स जासूसी करने के लिए इंटरनेट आधारित कैमरों और मिक्सर का भी उपयोग आसानी से कर सकते हैं। ये उपकरण निगम के नेटवर्क में कमजोर बिंदुओं के रूप में भी कार्य कर सकते हैं, जिसका अर्थ है कि हैकर्स असुरक्षित IoT उपकरणों के माध्यम से पूरे सिस्टम तक पहुंच प्राप्त कर सकते हैं और पूरे नेटवर्क में अन्य उपकरणों में मैलवेयर फैला सकते हैं।

RELATED - Major security  privacy differences between signal, whatsapp, telegram

5. रासRaaS-“Ransomware as a Serviceसेवा के रूप में रैंसमवेयर

 "रास" - जिसे "सेवा के रूप में रैंसमवेयर" के रूप में भी जाना जाता है तथा यह साइबर अपराधियों का बहुत ही खतरनाक संगठन है यह हैकरों के भूमिगत समुदाय में एक तेजी से बढ़ता हुआ उद्योग है। यह उन लोगों को किराए पर सेवा उपलब्ध कराता है जिनको मालवेयर संबंधी कोई जानकारी नहीं होती फिर भी किसी मालवेयर हमले को अंजाम देना चाहते हैं संक्षेप में यह एक ऐसा भूमिगत संगठन है जो परिष्कृत रैंसमवेयर हमले को अंजाम देने के लिए किराए पर पेशेवर हैकर या हैकर्स की टीम उपलब्ध कराता है। यह साइबर अपराधी नहीं बल्कि प्रशिक्षित साइबर अपराधियों की एक बहुत ही खतरनाक सेना है

इस तरह के भूमिगत उद्योग का होना बहुत ही खतरनाक है और चिंताजनक है, क्योंकि जिन लोगों को मेल वेब डिजाइनिंग, कोडिंग आदि का कोई अनुभव नहीं है वह भी RaaS जैसे संगठन से किराए के अपराधी लेकर आसानी से किसी बड़े साइबर हमले या रेनसम वेयर हमले को अंजाम दे सकते हैं।

RELATED - computer issues-causes fixwindows issues manually or with software


6. न्यूज मालवेयर अटैकNews Malware Attacks

 साइबर क्रिमिनल आजकल ताजा समाचारों(Breaking News) और महत्वपूर्ण वैश्विक घटनाओं(global events) का उपयोग मैलवेयर फैलाने के लिए लोगों को लक्षित करने के लिए करते हैं। मैलवेयर के के लिए व्यक्तियों को लक्षित करने के लिए COVID-19 (कोरोनावायरस) प्रकोप की लहर का उपयोग  करने की घटनाएं भी सामने आई है। हैकर्स लोगों को ईमेल भेजते हैं जिनमें COVID-19 (कोरोनावायरस) प्रकोप के बारे में वैध जानकारी प्रदान करने का दवा किया जाता है। अधिक जानने(learn more) के लिए पाठकों को एक लिंक पर क्लिक करने के लिए कहा जाता है, लेकिन इस लिंक में मैलवेयर छिपा होता है जो आपके डिवाइस की फाइलों को कॉपी करता है और आपकी निजी जानकारी को चुरा लेता है।

RELATED - Computer Security Basics: Protect Yourself fromViruses, Hackers, Keyloggers and data Thieves

7. फ्लेवरवेयर(फ्लैशवेयर)Fleeceware

 फ्लेवरवेयर(फ्लैशवेयर)Fleeceware का शाब्दिक अर्थ होता है मुंडन करने वाला अर्थात किसी को मुंड लेना वैसा ही कुछ है इस मालवेयर में होता है इस वायरस में अपराधी एंड्रॉयड यूजर्स को टारगेट करते हैं और उन को ऐप डाउनलोड करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं ऐप डाउनलोड करने वालों से मामूली से लेकर भारी भरकम रकम तक वसूली जाती है इनके द्वारा वसूली की जाने वाली रकम $90 प्रति वर्ष से लेकर $30 प्रति सप्ताह तक हो सकती है फ्री ट्रायल का लालच देते हैं लेकिन असल में कोई फ्री ट्रायल नहीं होती हाल के शोध में पाया गया है कि पिछले कुछ वर्षों में 600 मिलियन से अधिक एंड्रॉइड उपयोगकर्ताओं ने अपने डिवाइस पर "फ्लेसवेयर" डाउनलोड किया है। फ़्लेवरवेयर उन ऐप्स को हटाने के बावजूद ऐप उपयोगकर्ताओं से बड़ी मात्रा में पैसे वसूलता रहता है।

हालांकि फ्लेसवेयर किसी उपयोगकर्ता के डिवाइस और डेटा की सुरक्षा के लिए बहुत बड़ा खतरा नहीं है फिर भी यह ऐप डेवलपर्स द्वारा बिना सोचे-समझे निर्णय करने वाले उपयोगकर्ताओं को भुनाना चाहता है।

RELATED - How to See Most Recent Updates Installed Windows10 history should I skip updates 

 

8. सोशल इंजीनियरिंग(Social Engineering)

मनुष्य संभवतः किसी भी सुरक्षा प्रोटोकॉल की सबसे कमजोर कड़ी स्वयं ही है। यही कारण है कि साइबर अपराधी अब व्यक्तिगत जानकारी तक पहुंचने के लिए मानव मनोविज्ञान और धोखे की ओर रुख कर रहे हैं।

हैकर किसी कंपनी या सेवा प्रदाता से संपर्क करके परिचय बढ़ाना शुरू करते हैं और अपने आप को विशिष्ट व्यक्ति होने का दिखावा करते हैं । हैकर ग्राहक सहायता टीम को धोखा देंगे और पीड़ित के खाते से संबंधित संवेदनशील जानकारी प्राप्त करने की कोशिश करेंगे और कई बार इसमें सफल भी हो जाएंगे । फिर, वे भुगतान विवरण सहित किसी व्यक्ति के खाते और डेटा तक पहुंच प्राप्त करने के लिए उस जानकारी का शोषण करते हैं।

हालाँकि, यह किसी प्रकार का मैलवेयर नहीं है, लेकिन सोशल इंजीनियरिंग एक खतरनाक प्रवृत्ति है, क्योंकि इसमें हैकर्स को कोडिंग या मैलवेयर विकास के बारे में जानने की आवश्यकता नहीं होती है। कंपनियों. कंपनियों के अधिकारियों और ग्राहक सेवा कर्मचारियों को इसमें विशेष सतर्क रहने की जरूरत है । अधिकांश घटनाओं में पाया गया है कि एक सूटेड बूटेड अप टू डेट जेंटलमैन ने आकर संपर्क किया स्वयं को महत्वपूर्ण आदमी बताया और कंपनी के लोग बिना उसको जाने पहचाने प्रभावित हो गए और उसको सचमुच महत्वपूर्ण आदमी मान लिया । इसके बजाय, हमलावर की सभी जरूरतों के बारे में आश्वस्त होना चाहिए और मानवीय त्रुटि और शालीनता को उनकी ज़रूरत के आंकड़ों के साथ पुरस्कृत करने की अनुमति देना है।

RELATED - How to Use One Drive personal vault Secure YourFiles upto 1 TB


9. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंसArtificial Intelligence (AI) अटैक

जैसे-जैसे डेवलपर्स के लिए एआई(AI) स्क्रिप्ट और सॉफ्टवेयर प्रोग्राम डेवलप करने के अधिक उपकरण उपलब्ध हो जाते हैं वैसे वैसे हैकर भी विनाशकारी साइबरबैट को अंजाम देने के लिए इसी तकनीक का उपयोग करने में सक्षम होते जाते हैं।

यद्यपि साइबर सुरक्षा कंपनियां भी मैलवेयर से निपटने में मदद के लिए कृत्रिम बुद्धिमत्ताArtificial Intelligence (AI) और मशीन लर्निंग एल्गोरिदम का उपयोग कर रही हैं, लेकिन दुर्भाग्य से इन तकनीकों का उपयोग बड़े पैमाने पर उपकरणों और नेटवर्क को हैक करने के लिए भी किया जा सकता है।

साइबर हमले अक्सर समय और संसाधनों के मामले में साइबर अपराधियों को बहुत अधिक खर्चीले साबित हो सकते हैं। इसलिए, एआई और मशीन लर्निंग प्रौद्योगिकियों के विस्तार के साथ, हमें यह मानकर चलना चाहिए कि हैकर्स भी 2021 और उसके बाद के अति-उन्नत और विनाशकारी एआई-आधारित मैलवेयर विकसित करने की क्षमता विकसित करने में सफल हो जाएंगे।

RELATED - Telegram vs Signal App which is better which you should use and why


10. क्रिप्टोजैकिंगCryptojacking

क्रिप्टोजैकिंग मैलवेयर बिटकॉइन जैसी " माइनmine" क्रिप्टोकरेंसी की मदद करने के लिए किसी व्यक्ति की कंप्यूटिंग पावर का उपयोग करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। माइनिंग को नए क्रिप्टो सिक्कों को बनाने के लिए बड़ी मात्रा में कंप्यूटिंग पावर की आवश्यकता होती है, यही वजह है कि माइनिंग प्रक्रिया में मदद करने के लिए हैकर्स कंप्यूटर और मोबाइल उपकरणों पर क्रिप्टोकरेंसी मैलवेयर स्थापित करने का प्रयास कर रहे हैं तथा उपयोगकर्ता के डिवाइस को काफी धीमा कर देते हैं।

हालांकि पिछले वर्षों में क्रिप्टोजैकिंग हमलों में काफी गिरावट आई है - मुख्य रूप से क्रिप्टोकरेंसी के मूल्य में तेज गिरावट के बावजूद, यह प्रवृत्ति अब भी एक गंभीर खतरा बनी हुई है। बिटकॉइन की कीमत जनवरी 20 तक हुई बंपर बढ़ोतरी के साथ, क्रिप्टोकरेंसी की कीमतें 2021 तक $40,000 तक पहुंच गई हैं। क्रिप्टोकरेंसी के मूल्य को देखते हुए, यह कहा जा सकता है कि साइबर क्रिमिनल्स के लिए क्रिप्टोकरंसी मैलवेयर के हमलों को आकर्षक बना रहेगा।

RELATED - How to Scan eo Remove threatWindows 10 with Microsoft windows Defender Antivirus


हमारी वेबसाइट पर विजिट करने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद । हमारा प्रयास कैसा रहा कृपया कमेंट के जरिए हमें बताएं । अगर आप किसी भी काम के लिए हम से संपर्क करना चाहे तो कमेंट के जरिए अथवा हमारी वेबसाइट के होम पेज पर उपलब्ध कांटेक्ट फार्म का इस्तेमाल करके कर सकते हैं । अगर आप हमसे संपर्क करेंगे तो हमें बहुत प्रसन्नता होगी । नमस्कार, धन्यवाद, आपका दिन शुभ हो ।

worst virus, virus computer, worst computer virus, top 10 dangerous computer viruses, email virus, most dangerous computer virus

 

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें

Please Donot spam