Loading...

how to secure Android mobile from hacking and data theft, mobile security in hindi


अपना स्मार्टफोन हैकर्स और साइबर अपराधियों से बचाना चाहते हैं  तो ये काम कभी न करें

हैकर्स हमारे मोबाइल डिवाइस(टेब्लेट मोबईल आदि)  पर सेंधमारी करके हमारी निजी जानकारी चुरा लेते तथा हमें आर्थिक नुकसान  पहुंचा सकते हैं।

डिजिटल वर्ल्ड में सबसे ज्यादा खतरा हैकर्स और साइबर अपराधियों से होता है। हैकर्स और साइबर अपराधी हमारे डिवाइसों पर सेंधमारी करके निजी जानकारी चुरा सकते हैं। हमारे वाई-फाई से लेकर कंप्यूटर लैपटॉप स्मार्टफोन टेबलेट कुछ भी सुरक्षित नहीं है। इस वीडियो में हम कुछ ऐसे टिप्स दे रहे हैं और अगर आप अपने कंप्यूटर लैपटॉप स्मार्टफोन टेबलेट को हैकर्स और साइबर अपराधियों से बचाना चाहते हैं तो ये टिप्स आपके लिए मददगार साबित हो सकती हैं। ये टिप्स आपके मोबाइल को सुरक्षित रखेंगे और हैकिंग का खतरा नहीं रहेगा या न्यूनतम रहेगा ।
secure Android mobile from hacking and data theft
How To Save Android Phone from Hacking


आइए  विस्तार जानते हैं हैकिंग क्या है इसके लक्षण(सिम्पटम्स) क्या हैं तथा क्या हैं हैकिंग  से बचने के उपाय


सबसे पहले तो जानते हैं की स्मार्टफोन हैकर्स का शिकार होने के कारण क्या हैं
अगर आपकी मोबाइल डिवाइस(टेब्लेट मोबईल आदि) अनप्रोटेक्टेड है यानि गूगल प्ले प्रोटेक्ट एक्टिव नहीं है और अन्य कोई वायरस प्रोटेक्शन भी नहीं है आप पब्लिक Wi-Fi का इस्तेमाल भी करते हैं तो आपका  मोबाइल हैक होने का खतरा बहुत अधिक है। किसी दूसरे व्यक्ति के कंप्यूटर/लैपटॉप से जोड़ कर USB से फोन चार्ज करने पर भी मोबाइल हैकिंग का खतरा रहता है क्योंकि हो सकता है कि वो कंप्यूटर/लैपटॉप पहले से ही मैलवेयर से दूसित हो । मोबाइल पर आने वाले अज्ञात मैसेज के लिंक को खोलने से भी फोन हैक हो सकता है क्योंकि ऐसे लिंक्स में मैलवेयर की संभावना सबसे अधिक रहती है ।


आप चाहें तो Step By Step Guidance के लिए यह वीडियो देखें। 



अगर आपके कंप्यूटर लैपटॉप स्मार्टफोन टेबलेट में इनमें से कोई एक या एक से अधिक लक्षण सिम्पटम दिखाई दे तो आपका कंप्यूटर लैपटॉप स्मार्टफोन टेबलेट  हैक हो सकता है


अगर आपका फोन बार बार हैंग हो रहा है या बिना इस्तेमाल के ही गर्म हो रहा है तो समझिए फोन हैक हो गया है।

फोन अपनेआप बार बार रिबूट होने लगे तो यह हैंकिंग का संकेत हो सकता है।


फोन अपने आप बार बार स्विच ऑफ होने लगे तो यह भी हैंकिंग का संकेत हो सकता है।


आप अपने फोन को स्विच ऑफ कर रहे हैं और वो बंद हो तो यह भी एक खतरे की घंटी हो सकती है।


अगर आपका फोन बहुत स्लो हो गया है।

कंप्यूटर लैपटॉप स्मार्टफोन टेबलेट हैक होने से बचने के उपाय 

आपके फोन में आने वाले मैसेज में अगर कोई अधूरे यूआरएल वाला लिंक आया है तो उसे भूलकर भी खोलें।

मित्रों के या अनजान/अज्ञात कम्प्यूटर से फोन चार्ज करने से बचें और अत्यावश्यक हो तो फोन चार्ज करते वक्त Only charging ऑप्शन ही चुनें।

remember passwords” ऑप्शन पर क्लिक करने से हमेशा बचें। इससे हैकिंग के खतरे बढ़ जाते हैं।

 पब्लिक वाई-फाई का इस्तेमाल करते वक्त ऑटोमैटिक कनेक्शन ऑप्शन को बंद कर दें।

भूलकर भी सार्वजनिक वाई-फाई से बैंक ट्रांजेक्शन, पैसे का लेन-देन या किसी भी तरह की खरीददारी करें।  

इससे स्मार्टफोन हैक तो होगा ही साथ ही आपको गंभीर आर्थिक नुकसान भी भुगतना पड़ सकता है ।







विशेष निवेदन - हमारा प्रयास कैसा रहा इस विषय में कृपया कमेंट करे। विपरीत राय देने में कतई संकोच करें अपनी राय निष्पक्ष दे। कृपया हमारे ब्लॉग के सदस्य बने तथा हमारा फेसबुक पेज लाइक करें। हमारे यूट्यूब चैनल स्टार्ट विथ विकिग्रीन को सब्सक्राइब करें।Please subscribe our youtube channel “Start With Wikigreen”

 
नई पोस्ट पुरानी पोस्ट

0 टिप्पणियाँ:

 
Toggle Footer
TOP